जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप ने खोजी ‘द राक्षस’ – एक विशाल और दुर्लभ आकाशगंगा का रहस्य

HindiDesk
HindiDesk 2 Min Read

जेमस वेब स्पेस टेलीस्कोप ने एक अभूतपूर्व खोज की है, जिसने खगोलविदों को हैरान कर दिया है। टेलीस्कोप ने एक अत्यंत विशाल और दुर्लभ आकाशगंगा का पता लगाया है, जिसे ‘द राक्षस’ (Aztecc-71) के नाम से जाना जाता है।

यह आकाशगंगा लगभग 13 अरब वर्ष पुरानी है और हमारे ब्रह्मांड के शुरुआती युग में बनी है। यह आकार में आश्चर्यजनक रूप से बड़ी है, और इसमें एक खगोलीय ‘राक्षस’ के रूप में वर्णित किया गया है।

‘द राक्षस’ का आकार हमारे मिल्की वे आकाशगंगा से 10 गुना बड़ा है और इसमें सितारों का द्रव्यमान हमारे ब्रह्मांड के इस युग में किसी भी ज्ञात आकाशगंगा से लगभग 100 गुना अधिक है।

खगोलविद इस खोज से हैरान हैं, क्योंकि यह हमारे ब्रह्मांड के प्रारंभिक विकास के बारे में हमारी समझ को चुनौती देती है। इस समय के दौरान, आकाशगंगाओं को धीरे-धीरे छोटे गैस बादलों से बनने की उम्मीद थी।

हालांकि, ‘द राक्षस’ इतना बड़ा और इतनी जल्दी कैसे बना, यह एक रहस्य है। इस खोज से वैज्ञानिकों को ब्रह्मांड के प्रारंभिक विकास को बेहतर ढंग से समझने में मदद मिलेगी।

जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप नवीनतम और सबसे शक्तिशाली अंतरिक्ष दूरबीन है। यह खगोलविदों को ब्रह्मांड के सबसे दूर और धुंधले कोनों में देखने की अनुमति देता है।

‘द राक्षस’ की खोज केवल शुरुआत है। जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप के साथ, खगोलविदों को ब्रह्मांड के रहस्यों को उजागर करने और हमारी जगह को समझने के नए तरीके मिलने की उम्मीद है।

Share This Article